शीघ्रपतन के कारण और उसका अचूक निवारण - Causes And Best Prevention Of Premature Ejaculation


स्खलन का अर्थ है लिंग के माध्यम से शरीर से वीर्य का स्राव होना। शीघ्र स्खलन या शीघ्रपतन वह स्थिति है जिसमें किसी पुरुष का सेक्स के दौरान उसके साथी की तुलना में शीघ्र ही स्खलन हो जाता हैI कभी-कभी शीघ्र स्खलन को तेजी से स्खलन, समय से पहले चरमोत्कर्ष या जल्दी स्खलन के रूप में भी जाना जाता है।
सामान्यत: शीघ्रपतन चिंता का कारण नहीं है। लेकिन अगर यह सेक्स को कम आनंददायक बनाता है और आपके साथी के साथ रिश्तों पर प्रभाव डालता है तो यह निराशाजनक हो सकता है। ऐसा अक्सर होता है और समस्याएं बढ़ती जाती हैं क्योंकि आपके साथी की सेक्स संतुष्टि एक स्वस्थ और खुशनुमा जीवन के लिए आवश्यक हैं।30% से 40% अधिक पुरुष कभी न कभी समय से पहले स्खलन से पीड़ित हुए है। यह व्यक्ति के आत्मसम्मान को प्रभावित करता है और पार्टनर को असंतुष्ट छोड़ देता है। इस समस्या को अक्सर मनोवैज्ञानिक माना जाता है, लेकिन कुछ बायोलॉजिकल कारक भी हो सकते है।
स्खलन केंद्रीय तंत्रिका तंत्र द्वारा नियंत्रित किया जाता है। जब पुरुष यौन उत्तेजित होते हैं, तो संकेत आपके रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क में भेजे जाते हैं। जब पुरुष उत्तेजना के एक निश्चित स्तर तक पहुँचते हैं, तब संकेत आपके दिमाग से आपके प्रजनन अंगों को भेजे जाते हैं। इससे लिंग (स्खलन) के माध्यम से वीर्य स्राव किया जा सकता है।
शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के लक्षण -
एक तेज उत्तेजना, स्तंभन और स्खलन प्रक्रिया।
स्खलन आमतौर पर उत्तेजना के कुछ सेकंड या मिनट के भीतर हो जाता है।

हालांकि, सभी यौन स्थितियों में शीघ्र स्खलन की समस्या हो सकती है, हस्तमैथुन के दौरान भी। बहुत से पुरुषों का मानना ​​है कि उनको समयपूर्व स्खलन के लक्षण हैं, लेकिन वे लक्षण समयपूर्व स्खलन के लिए निर्धारित ​​मानदंडों को पूरा नहीं करते हैं। इसके बजाय इन पुरुषों को प्राकृतिक परिवर्तन वाला समयपूर्व स्खलन हो सकता है, जिसमें तीव्र स्खलन के साथ-साथ सामान्य स्खलन की अवधि भी शामिल है।
शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के कारण -
समय से पहले स्खलन का सही कारण ज्ञात नहीं है। हालांकि यह पहले केवल मनोवैज्ञानिक माना जाता था, पर अब डॉक्टरों को पता है कि समय से पहले स्खलन में मनोवैज्ञानिक और जैविक कारकों का जटिल संपर्क शामिल है।

  • अत्यधिक या फिर नियमित हस्थमैथुन करना



  • तुरंत असर करने वाली एलोपैथिक दवाई का सेवन


  • मनोवैज्ञानिक कारण



  • प्रारंभिक यौन अनुभव


  • यौन शोषण



  • अपने शरीर के रूप के प्रति नाकारात्मक छवि



  • डिप्रेशन



  • समय से पहले स्खलन के बारे में चिंता करना



जिन पुरुषों को स्तंभन दोष हैं, उनमें जल्दी स्खलन हो सकता हैं, जो कि बदलना मुश्किल हो सकता है। चूंकि स्खलन के बाद उत्तेजना दूर हो जाती है इसलिए यह जानना मुश्किल हो सकता है कि समस्या शीघ्रपतन है या स्तंभन दोष। सबसे पहले स्तंभन दोष का इलाज किया जाना चाहिए। एक बार स्तंभन दोष का इलाज होने के बाद शीघ्र स्खलन समस्या भी खत्म लगेगा।
शीघ्रपतन की समस्या का निवारण -
शीघ्रपतन के निवारण के लिए आप आयुर्वेद का सहारा ले सकते है। आयुर्वेदिक दवाओं से ही शीघ्रपतन और स्तंभन दोष पूरी तरह से जड़ से खत्म किया जा सकता है। इसको जड़ से खत्म करने के लिए आप कम से कम 3-4 महीना इसकी दवाई नियमित रूप से लीजिए। दवाई पूरी तरह से प्राकृतिक औषधियों से तैयार की जाती है, जैसे कि सफ़ेद मूसली ,काली मूसली, स्काकुल मूसली, सेमल मूसली ,रुमी मस्तगी, सालम पंजा, पीला शतावर, काले कौंच की शुद्ध गिरी ,श्यामा तुलसी बीज, असगन्ध गूलर, फल ,मकरध्वज, रजत भस्म, मुक्ता भस्म, स्वर्ण भस्म, वज्र भस्म, प्रवाल पिष्टी, चंद्रपुटी ,असली शुद्ध शिलाजीत ,असली केसर आदिl और आपकी उम्र और समस्या के हिसाब से हर व्यक्ति की दवा अलग से तैयार की जाती है, जिस वजह से इसका किसी भी तरह का कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं होता। आप इसे हमसे बात करके ऑनलाइन आर्डर कर सकते है।

आयुर्वेदिक दवाओं जिनमे शुद्ध प्राकृतिक औषधियां हो उस से ही शीघ्रपतन और स्तंभन दोष की समस्या पूरी तरह से 100% ठीक होगी और वो भी जड़ से। इसके लिए आप हमसे दवा ले सकते है
दवा की अधिक जानकारी के लिए  उपचार (TREATMENTS) के ऑप्शन में जाये। या फिर कमेंट बॉक्स में बताये।
मेरा ये आर्टिकल पसदं आया हो तो जरूर ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और लाइक करे, शीघ्रपतन के लिए आयुर्वेदिक दवा की जानकारी के लिए नीचे कमेंट भी कर सकते है

धन्यवाद।

Post a Comment

5 Comments

  1. कृपया दवा का नाम बताएं

    ReplyDelete
    Replies
    1. sir dwa ka koi naam nahi hai.. jesa ki mene btaya hai ye dwa kai sari desi natural aushdhiyo ko milakar experience vedh ji dwara bnayi jati hai.. har person ki umar ke hisab se or samasya ke hisab se alag dawayi taiyar ki jati hai.. aap upchar ke option me jaakr details dekh skte hai..

      dhanyawad.

      Delete
  2. Pl tell the name of medicine

    ReplyDelete
    Replies
    1. sir dwa ka koi naam nahi hai.. jesa ki mene btaya hai ye dwa kai sari desi natural aushdhiyo ko milakar experience vedh ji dwara bnayi jati hai.. har person ki umar ke hisab se or samasya ke hisab se alag dawayi taiyar ki jati hai.. aap upchar ke option me jaakr details dekh skte hai..

      dhanyawad.

      Delete